शहीद ।।।

काश इस जिन्दगी मे,        

मेरी हस्ती मेरे वतन के काम आए,                                             मेरा लहु मेरा जिस्म ,                  ‘                                       तिरंगे मे लिपटा हुआ शहीदो मे मेरा नाम आए ।।

काश इस जिन्दगी मे,  

मेरे देशवासी खुशहाल रहै,                                                       हर जगह मोहब्बत बिखरे,                                     और मेरे मा-बाप आजाद रहै ।।

काश इस जिन्दगी मे,

किसी को जिन्दगी का मतलब सिखा जाऊ,                            खुद आजाद हो पाऊ,                                           आखरी दम तक मेरे वतन को समपिॅत मर जाऊ ।।

Advertisements

3 thoughts on “शहीद ।।।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s